Vastu Echchapurti kachua

Vastu Echchapurti kachua

Regular price Rs. 201.00 Sale price Rs. 151.00

In Braas without plete

घर में कछुआ रखने के हैं कई लाभ, पर जरूर रखें दिशा का ध्यान-

हिंदू धर्म में घर में कछुआ रखने को बहुत शुभ माना जाता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, भगवान विष्णु का एक रूप कछुआ था. भगवान विष्णु ने कछुए का रूप धारण कर समुद्र मंथन के समय मंद्रांचल पर्वत को अपने कवच पर थामा था. कहा जाता है कि जहां कुछआ होता है, वहां लक्ष्मी का आगमन होता है. फेंगशुई में भी कछुआ रखना बेहद शुभ माना गया है. इससे घर और ऑफिस में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बना रहता है. आइए पहले जानते हैं इसके लाभ और उसके बाद इसे रखने की सही दिशा क्योंकि गलत दिशा में रखने से शुभ के बजाए अशुभ परिणाम प्राप्त होने लगते हैं.

माना जाता है कि कछुआ रखने से धन की प्राप्ति होती है. जिसको धन संबंधी परेशानी हो तो उसे कछुआ रखने से लाभ होगा. यदि किसी को धन संबंधी परेशानी हो, तो उसे क्रिस्टल वाला कछुआ लाना चाहिए. घर में कछुआ रखने से परिवार के लोगों की उम्र लंबी होती है. साथ ही कई बीमारियों से दूर रहती है.

कछुआ बहुत शुभ माना जाता है. इसलिए कहा जाता है कि इसे पास रखने से नौकरी और परीक्षा में सफलता प्राप्त होती है. घर में मौजूद कछुआ आपको और आपके परिवार को नजर लगाने से बचाता है. घर में कछुआ रखने से परिवार के सदस्यों के बीच में सुख- शांति बनी रहती हैं.

नया व्यापार शुरू करते समय अपनी दुकान या ऑफिस में चांदी को कछुआ रखना बहुत शुभ माना जाता है. कछुआ घर में रखने से जीवन में ऊर्जा का प्रवाह एक समान होने से स्थिरता बनी रहती है और उतार-चढ़ाव कम आते हैं.

  • ·

फेंगशुई में वस्तुओं को सही दिशा में रखने का खास निर्देश है तभी इसका पूरा लाभ मिलता है. उदाहरण के तौर पर, अगर आप फेंगशुई कछुए को गलत ढंग से रखते हैं तो इससे फायदे की जगह नुकसान हो जाएगा. आप अपनी निजी जिंदगी में ऊर्जा का अभाव महसूस करने लगेंगे इसलिए कछुए को गलत दिशा में रखने से होने वाले बुरे प्रभावों से बचने के लिए हमें कछुआ रखने की सही दिशा जरूर पता होनी चाहिए.
घर हो या ऑफिस, सकारात्मक ऊर्जा लाने के लिए चीजों को सही जगह पर रखना बहुत जरूरी है. याद रखें फेंग शुई में कछुए को संरक्षक (गार्जियन) माना जाता है क्योंकि यह चार दिव्य जीवों में से एक माना जाता है. काले रंग का कछुआ उत्तर दिशा, ग्रीन ड्रैगन पूर्व दिशा, रेड फिनिक्स को दक्षिण दिशा, सफेद चीते को पश्चिम दिशा मिली है. फेंगशुई के अनुसार ये चारों किसी भी शख्स की जिंदगी में ऊर्जा को नियंत्रित करते हैं.

दफ्तर या घर के पिछले हिस्से (बैकयार्ड) में कछुए को रखने से अपार ऊर्जा का एहसास होगा और आप अपने सभी कार्य ठीक तरीके से कर पाएंगे.

अगर करियर में खूब तरक्की चाहते हैं तो काले रंग के कछुए को उत्तर दिशा में रखें. ऊर्जा बढ़ने से बिजनेस और करियर में तरक्की की संभावनाएं बढ़ जाती हैं.       · 

घर के मुख्य द्वार पर पश्चिम की दिशा में कछुआ रखने से सुरक्षा मिलती है.· 

मूलत: कछुए को घर में 'गुड लक' के लिए रखा जाता है. लेकिन एक खास प्रकार की मादा कछुआ, जिसकी पीठ पर बच्चे कछुए भी हों, यह प्रजनन का प्रतीक होता है. जिस घर में संतान ना हो या जो दंपत्ति संतान सुख से वंचित हो, उन्हें इस प्रकार का कछुआ अपने घर में रखना चाहिए.

काले रंग के कछुए के अलावा कई तरह के कछुए बनाए जाते हैं. इन सभी का अलग-अलग प्रभाव पड़ता है. अलग-अलग तत्वों से बने कछुए ऊर्जा स्तर को अलग-अलग तरह से प्रभावित करते हैं. अपनी जरूरत के हिसाब से आप कछुए का चुनाव कर सकते हैं.      ·  ·

क्रिस्टल के बने हुए कछुए को या तो दक्षिण-पश्चिम या उत्तर-पश्चिम दिशा में रखें. लकड़ी के बने हुए कछुए को पूर्व या दक्षिण-पूर्व दिशा में रखें. अगर आप कछुए को परिवार को अपने लिविंग रूम में रखना चाहते हैं तो अच्छा है क्योंकि इससे परिवार के सदस्यों के बीच मेलजोल बढ़ता है.           

कछुआ अगर मिट्टी का बना हुआ है तो उसे उत्तर-पूर्व दिशा, मध्य या दक्षिण-पश्चिम दिशा में रखा जाना चाहिए. धातु से बने हुए कछुए को उत्तर और उत्तर-पश्चिम दिशा में रख सकते हैं. हालांकि मिश्रित धातु के कछुए को उत्तर दिशा में रखना चाहिए. 

अगर कछुए को रखने से संबंधित समस्या आती है तो सबसे बेहतर होगा कि आप कछुए को मुख्य द्वार की तरफ करके रखें.

घर में कछुआ किस दिशा में हो इस बात का ध्यान रखने के साथ-साथ, उसका मुख किस दिशा में हो यह भी जान लीजिए. अन्यथा आपको सही परिणाम हासिल नहीं होंगे. फेंग शुई के अनुसार कछुए का मुख हमेशा घर की पूर्व दिशा में होना चाहिए, यह दिशा शुभ मानी गई है.

कछुए को हमेशा जल में रखना चाहिए. इसे कछुए की धातु वाले किसी बर्तन में जल भरकर रखना चाहिए जिससे कि घर में सुख, शांति और समृद्धि आए.