उबटन (Ubtan)
उबटन (Ubtan)
उबटन (Ubtan)
उबटन (Ubtan)
उबटन (Ubtan)

उबटन (Ubtan)

Regular price Rs. 300.00 Sale price Rs. 125.00

#उबटन के नाम से तो हम सभी परिचित हैं। #आयुर्वेद भी हजारों सालों से #उबटन का इस्तेमाल करने की सलाह देता है। अगर पारंपरिक रूप से देखा जाए तो #उबटन दुनिया में #कॉस्मेटिक का सबसे पुराना और सबसे प्योर टाइप है। 

#उबटन को बेहद साधारण लेकिन गुणकारी चीजों से बनाया जाता है। #उबटनअसल में चेहरे पर जादुई असर करने वाला #फेसमास्क है जो ग्लोइंग स्किन देने के साथ-साथ पोषण भी देता है। #उबटन इतना असरदार है कि शादियों में खासतौर पर एक रस्म #उबटन लगाने की ही होती है।

 मैं आपको #उबटन और उसे लगाने के 7 फायदों के बारे में जानकारी दूंगा। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप जान जाएंगे कि #उबटनआपकी स्किन के लिए कितना फायदेमंद है।

#उबटन क्या है?

कुछ सदियों पीछे चलते हैं, #उबटन तब से लेकर आज तक सबसे ​बेहतर कॉस्मेटिक उत्पाद माना जाता रहा है। मान्यता है कि #उबटन में शरीर को स्वस्थ बनाने के गुण पाए जाते हैं। 

#उबटन का इस्तेमाल राजा-महाराजाओं के अलावा आम आदमी भी किया करते थे। फर्क सिर्फ ये था कि राजा-महाराजाओं के शाही #उबटन में कई कीमती जड़ी-बूटियां और खुशबूदार तेल मिलाए जाते थे। जिनकी वजह से उनके गुण कई गुना बढ़ जाते थे।

जबकि आम आदमी का #उबटन ज्यादातर बारीक पिसी हुई दालों और घर पर आसानी से मिलने वाली चीजों से बनता था। स्किन को भीतर तक स्वस्थ बनाने का लगभग हर गुण #उबटन में पाया जाता है।

घरेलू #उबटन, दूध, बेसन, बादाम पाउडर, हल्दी, क्रीम, नींबू का जूस और गुलाब जल डालकर बनाया जाता है। वहीं अगर शरीर से रोएं हटाने के लिए #उबटन बनाया जा रहा है तो इसमें गेहूं का आटा भी मिलाया जाता है। ये सारी सामग्री भारतीय घरों में आसानी से उपलब्ध हो जाती है। इसलिए #उबटन की सामग्री जुटाने में ज्यादा मेहनत भी नहीं करनी पड़ती है।

आयुर्वेदिक #उबटन -

आयुर्वेद के अनुसार, हर मनुष्य को शरीर में मौजूद दोष को ध्यान में रखते हुए #उबटन का इस्तेमाल करना चाहिए। शरीर के दोष के अनुसार बनाया गया #उबटन स्किन के पीएच लेवल को बैलेंस करता है। 

पीएच लेवल जब गड़बड़ होता है तभी स्किन को नुकसान पहुंचता है और स्किन की समस्याएं शुरू हो जाती हैं। दोष, असल में आयुर्वेदिक दवाओं का आधार माना जाता है। इन दोषों को तीन श्रेणियों वात, पित्त और कफ में बांटा गया है। 

वात दोष के लिए बनाया गया #उबटन स्किन को पोषण देता है। वात दोष के लिए बने #उबटन को कमरे के सामान्य तापमान पर ही लगाया जाना चाहिए। वात दोष वाला #उबटन मोटापे की समस्या से परेशान लोगों को भी बेहतरीन राहत देता है। 

जबकि पित्त दोष के लिए बनाए गए #उबटन को ठंडे तापमान पर लगाया जाना चाहिए। पित्त दोष दूर करने वाला #उबटन शरीर के भीतर की गर्मी को बाहर निकालता है। स्किन में एक्ने/पिंपल और मुंहासे जैसी समस्याएं दूर करने में भी ये #उबटन बेहतरीन काम करता है।

जबकि, कफ दोष वालों के लिए बनाए गए #उबटन को गर्म तेल मिलाकर तैयार किया जाता है। कफ दोष दूर करने वाला #उबटन शरीर में कफ की बीमारियों से परेशान लोगों के लिए सर्वश्रेष्ठ होता है। ये शरीर के सभी जरूरी लिक्विड के सामान्य फ्लो को बनाने में मदद करता है।

क्या है वात, पित्त और कफ?

वात, पित्त और कफ को सामूहिक रूप से आयुर्वेद में त्रिदोष कहा जाता है। ये तीन दोष दुनिया के हर जीवित इंसान में पाए जाते हैं। ये तीनों दोष असल में बायोलॉजिकल एनर्जी हैं जो शरीर को चलाती हैं। माना जाता है कि ये तीनों दोष जब संतुलित होते हैं, तब मनुष्य स्वस्थ रहता है। अगर कोई भी दोष बढ़ जाए तो बीमारियां मनुष्य को घेर लेती हैं। 

वात दोष को शरीर में आकाश और वायु तत्व का प्रतीक माना जाता है। जबकि पित्त दोष मूल रूप से अग्नि और जल तत्व से संचालित होता है जबकि कफ दोष जल और पृथ्वी तत्व से मिलकर संचालित होता है।

#उबटनके फायदे

  1. स्किन को बनाए ग्लोइंग

#उबटन एक नेचुरल फेस मास्क है जिसमें ढेरों औषधीय गुण मौजूद हैं। अगर इसे नियमित रूप से लगाया जाए तो ये स्किन को फ्रेश और नम बनाए रखता है। #उबटन में पड़ने वाला बेसन डेड स्किन को हटाने के लिए बेस्ट है। जबकि चंदन पाउडर स्किन को चिकना बनाने में मदद करता है। दूध स्किन से काले दाग-धब्बे कम करने में मदद करता है। ये स्किन को चमकदार या ग्लोइंग बनाने में मदद करता है। 

  1. देता है बेदाग निखार -

हम सभी में से ज्यादातर लोगों को स्किन की अलग-अलग तरह की समस्याएं होती हैं। जैसे स्किन में दाग-धब्बे होना, चेहरे पर झाईं होना, एक्ने, पिंपल या फिर मुंहासे के निशान बनना, ब्लैकहेड्स, व्हाइट हेड्स आदि। #उबटन इन सारी समस्याओं का एक उपाय हो सकता है। #उबटन को नियमित रूप से लगाने पर ये हमें निखरी और बेदाग त्वचा देता है। इसके अलावा अगर धूप में ज्यादा देर तक रहने के कारण स्किन टैन हो गई है तो भी आप #उबटनलगाकर फायदा पा सकते हैं।  

  1. बढ़ती उम्र को थाम ले -

हल्दी को दुनिया का सबसे पुराना और आजमाया हुआ एंटी बायोटिक माना जाता है। हल्दी में चोटों को ठीक करने की भी जबरदस्त क्षमता पाई जाती है। हल्दी #उबटन में इस्तेमाल होने वाली जरूरी सामग्री है। 

हल्दी में जलन कम करने वाले, एंटी एजिंग और एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर गुण पाए जाते हैं। हल्दी स्किन की खोई हुई नमी वापस लौटाने के साथ ही उसे ग्लोइंग भी बनाती है। इससे स्किन पहले से कहीं जवान दिखने लगती है। इसके अलावा अगर ड्राई स्किन वाली त्वचा में पपड़ी बनने की समस्या हो रही है तो भी उबटन इस समस्या को दूर कर सकता है। ये हल्दी से मिलने वाले हजारों गुणों में से कुछ ही हैं। 

  1. शरीर के अनचाहे बाल हटाए -

#उबटन शरीर से अनचाहे बाल हटाने में भी मदद करता है। उबटन असल में बॉडी हेयर रिमूवल का बेहद सौम्य, प्राकृतिक और सुरक्षित तरीका है। इसके साथ ही ये तरीका बेहद असरदार और सस्ता भी है। यहां तक कि पुराने दिनों में नवजात बच्चों के शरीर से बाल हटाने के लिए #उबटन लगाया जाता था। इस खास #उबटन से उनके शरीर के रोएं हमेशा के लिए हट जाते थे। 

  1. एक्ने रोकने में करे मदद -

#उबटन न सिर्फ स्किन के टैक्सचर को मुलायम और चिकना बनाता है बल्कि इसमें मुंहासे रोकने के प्राकृतिक गुण भी पाए जाते हैं। हल्दी और चंदन में एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण पाए जाते हैं। ये स्किन को भीतर से साफ करके एक्ने/मुंहासे होने की संभावना को कम करने में मदद करता है। 

  1. देता है गोरी त्वचा -

चंदन पाउडर का इस्तेमाल भी #उबटन में किया जाता है। चंदन पाउडर स्किन रोगों में बेहद असरदार होता है। अगर #उबटन को लगातार लगाया जाए तो ये रोमछिद्रों को कसने में मदद करता है और स्किन को स्वस्थ और जवान बनाने में मदद करता है। इसके अलावा चंदन स्किन की रंगत सुधारने में भी खासी मदद करता है। 

सारांश 

भारत में #उबटनका इस्तेमाल करने की परंपरा हजारों साल पुरानी है। #उबटन का इस्तेमाल न सिर्फ शादी-ब्याह में दूल्हा-दुल्हन का रूप निखारने के लिए बल्कि नवजात बच्चों पर भी किया जाता रहा है। ये शरीर की त्वचा में मौजूद पीएच बैलेंस को भी मेंटेन करने में मदद करता है। अगर हफ्ते में एक बार भी #उबटन को लगाया जाए तो ये स्किन की हर समस्या से निजात दिलवा सकता है।