राज मोहिनी
राज मोहिनी
राज मोहिनी

राज मोहिनी

Regular price Rs. 751.00 Sale price Rs. 501.00
प्राचीनकाल में तंत्र, सम्मोहन ,वशीकरण ,भ्रम और रहस्यमई मोहिनी विद्या के लिए मोहिनी शब्द प्रयुक्त होता था आज हम बात कर रहे हैं उस रहस्यमई जड़ी राज मोहिनी नामक वनस्पति की।
मोहिनी झाड़ी एक विशेष प्रकार की झाड़ी याने पेड़ होता है जो घने जंगलों मे पाया जाता है और इसे उगाया नहीं जा सकता, मोहिनी जड़ी इस पेड़ के तले से पाई जाती है। 
मोहिनी झाड़ी को नाचने वाला पेड़ भी कहा जाता है जो बिना हवा के पानी के संपर्क में आते ही अपनेआप हिलने लगता है। 
इस झाड़ी की विशेषता यह होती है कि उसके पास से गुजरने वाला हर जीव उससे मोहित या अकर्षित हो जाता है। 
प्राचीन काल मे मोहिनी जड़ी का उल्लेख एवं महेत्व हुआ करता था जो कि भारत से विलुप्त हो चुका है और बड़ी मुश्किल से इसकी जानकारी एवं पहचान मिल पाती है एवं इसे पाने के लिए अनुभव की आवश्यकता होती है 
अनुभवी द्वारा ही इसे झाड़ी से निकालने के लिए विशेष रात में विशेष मंत्रों द्वारा झाड़ी से निकाला जाता है। 
ऐसा माना जाता है कि अगर कोई मोहिनी जड़ी को चख कर किसी को सामने देखले तो वो उसके प्रति आकर्षित या उससे सम्मोहित हो जाता है एवं इसके आसपास के सारे जीव एवं सोची हुई भावनाएं इससे अकर्षित होजाति है। 
जानकार लोग इसे अपने हिसाब से विशेष प्रकार के अलग अलग कार्यों के लिए इसका इस्तेमाल करते है जेसे की सफलता के लिए या किसी व्यक्ति विशेष के लिए। 
तंत्र शास्त्र मे भी इसका बड़ा महेत्व है तांत्रिक लोग तांत्रिक क्रियाओं के लिए भी इसका इस्तेमाल करते है भूत प्रेत एवं आत्माएं भी आकर्षित की जा सकती है। 
इसका इस्तेमाल अलग अलग कार्यों के लिए अलग अलग विधियों द्वारा किया जाता है 
असली मोहिनी जड़ी की पहचान के लिए अगर आप हाथ मे लेकर  पानी मे डाल कर बाहर निकालेंगे तो यह अपने आप घूमने लगती है और विशेष बात यह है कि ये हमेशा सीधी दिशा मे ही घूमती है कभी उल्‍टी दिशा में नहीं घूमती, और यदि दो जड़ी को एक साथ पानी में डाल कर निकालेंगे तो यह दोनों आपस मे एक दूसरे से लिपअट जाती है 
यह जड़ी मनोरोग चिकित्सा की औषधि के काम में ली जासकती है । 
क्रपया निवेदन है कि इस जानकारी का एवं जड़ी को दुरुपयोग मे ना लें ।
One pair in  each pack