मच्छर भगाने में मददगार तेल

मच्छर भगाने में मददगार तेल

Regular price Rs. 600.00 Sale price Rs. 210.00

Each bottle contains 20 ml

Mix with 250 ml any  food oil for rub on body

मच्छरों से बचने का सबसे अच्छा और सरल उपाय है एसेंशियल ऑयल (Essential Oil) का इस्तेमाल। जैसा कि हम सभी जानते हैं, मच्छरों के काटने से बहुत सी बीमारियां हो सकती हैं, जैसे- डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया आदि। वैसे तो कुछ शहरों और गांवों में लोगों को मच्छरों के साथ रहने की आदत होती है। लेकिन मच्छरों का भयावह रूप तब सामने आता है जब इनसे सम्बन्धित बीमारियां हमें नुकसान पहुंचाती हैं और कभी कभी जानलेवा भी सिद्ध होती हैं। आमतौर पर तो लोग मच्‍छर भगाने के लिए एंटी-मॉस्कीटो कॉइल्स सहित कई तरह के प्रोडक्ट्स का इस्‍तेमाल करते हैं। हालांकि इन प्रोडक्ट्स के बहुत से साइड इफेक्ट्स भी होते हैं। ऐसे में इनके ज्यादा इस्तेमाल से बचना चाहिए। इसके लिए आप प्राकृतिक तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस लेख में आज हम आपको ऐसी ही कुछ चीजों के बारे में बता रहे हैं जिसका प्रयोग आप बिना किसी नुकसान के कर सकते हैं।

लेमनग्रास ऑयल

मच्छर और खटमल भगाने में के लिए लेमनग्रास ऑयल का इस्तेमाल लंबे समय से किया जाता रहा है। यह कहीं भी आसानी से उपलब्ध होता है, इसलिए काफी लोकप्रिय भी है। इसका इस्तेमाल करने के कुछ घंटों तक मच्छर और खटमल आपसे दूर ही रहेंगे।

तुलसी का तेल

तुलसी कई असाध्य रोगों के उपचार में इस्तेमाल होने वाली औषधि है। मच्छरों को भगाने में तुलसी का तेल बेहद प्रभावी उपाय है। इसमें कीट-प्रतिरोधक क्षमता होती है जिसके इस्तेमाल के बाद मच्छर आपसे दूर रहते हैं।

पिपरमिंट का तेल

पिपरमिंट ऑयल की गंध मच्छरों और खटमल को आपसे दूर रखने में मददगार होती है। सिर्फ मच्छरों से बचाव में ही नहीं, आप इसका इस्तेमाल दर्द से राहत पाने के लिए भी कर सकते हैं।

सौंफ इसेंशियल ऑयल

खाना पकाने के लिए इसका इस्तेमाल खूब किया जाता है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टी होती है। मच्छरों से सुरक्षा के लिए सौंफ के तेल का इस्तेमाल करना काफी प्रभावी होता है।

नींबू और यूकेलिप्टस का तेल

मच्छरों से प्राकृतिक सुरक्षा चाहिए तो इस तेल का इस्तेमाल करें। इसमें मच्छर-प्रतिरोधी अद्भुत गुण पाए जाते हैं। प्राकृतिक होने की वजह से इससे आपको किसी भी तरह का नुकसान भी नहीं होता।

सिट्रोनेला आयल

सिट्रोनेला आयल का भी लोग मच्‍छर भगाने के लिए प्रयोग करते हैं। हालांकि यह ऑयल स्किन पर लगाने के बाद 30 मिनट से 2 घंटे तक ही प्रभावी होता है। कुछ लोगों को सिट्रोनेला आयल से एलर्जी हो जाती है और स्किन पर रैशेज़ भी पड़ जाते हैं। सिट्रोनेला ऑयल को 2 साल से कम उम्र के बच्चों को ना लगायें दूसरे सिट्रोनेला उत्पाद जैसे सिट्रोनेला रिस्ट बैण्ड, एन्कल बैण्ड, नेक बैण्ड उतने प्रभावी नहीं होते। 

डेंगू, मलेरिया जैसी बीमारियां फैलाने वाले मच्छरों से बचाव के लिए इन तेलों का इस्तेमाल डिफ्यूजर की मदद से किया जा सकता है। इसके अलावा आप इन्हें अपने शरीर पर लगाकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन यह तरीका बहुत देर तक प्रभावी नहीं रहता। साथ ही ऐसे इस्तेमाल करने से स्किन रैशेज और इर्रिटेशन जैसी समस्याएं भी सामने आती हैं।

 Pure & Natural