हींग (Hing)
हींग (Hing)

हींग (Hing)

Regular price Rs. 34.00 Sale price Rs. 26.00

#हींग केवल रसोई में काम आने वाला मसाला ही नहीं है, यह एक बेहतरीन औषधि भी है। भारत में कई सौ सालों से मसाले के रूप में #हींग का उपयोग किया जा रहा है। #हींग फेरूला-फोइटिडा नाम के पौधे का रस है। इस पौधे के रस को सुखाकर #हींग बनाई जाती है। इसके पौधे 2 से 4 फीट तक ऊंचे होते हैं। ये पौधे विशेष रूप से ईरान, अफगानिस्तान, तुर्कीस्तान, बलूचिस्तान, काबुल और खुरासान के पहाड़ी क्षेत्रों में होते हैं। महर्षि चरक के अनुसार #हींग दमा के रोगियों के रामबाण औषधि, कफ का नाश करने वाली, गैस की समस्या से राहत देने वाली, पक्षघात के रोगियों के लिए फायदेमंद व आंखों के लिए भी बेहद लाभदायक होती है।

तो आज आप जानिए #हींग के कुछ औषधिय गुणों को

  1. दांत में कीड़ा लग जाने पर रात में सोते वक्त दांतों में #हींग दबाकर साएं। ऐसा करने से कीडे अपने-आप निकल जाएंगे।
  2. कांटा चुभने पर उस स्थान पर #हींग का घोल भर दीजिए। इससे पीड़ा भी समाप्त होगी और कांटा अपने आप निकल जाएगा।
  3. दाद, खाज, खुजली जैसे चर्म रोगों के लिए #हींग बहुत फायदेमंद है। चर्म रोग होने पर हींग को पानी में घिसकर लगाने से फायदा होता है।
  4. बवासीर की समस्या पर #हींग का प्रयोग करना फायदेमंद होता है। बवासीर होने पर हींग का लेप लगाने से बवासीर में आराम मिलता है।
  5. कब्ज होने पर #हींग के चूर्ण में थोडा सा मीठा सोडा मिलाकर रात में सोने से पहले लीजिए। इससे पेट साफ हो जाएगा।
  6. पेट में दर्द व ऐंठन होने पर अजवाइन और नमक के साथ #हींग का सेवन करने से फायदा होता है।
  7. पेट में कीड़े हो जाने पर #हींग को पानी में घोलकर एनिमा लेने से पेट के कीड़े शीघ्र निकल आते हैं।
  8. अगर किसी खुले जख्म पर कीडे पड़ गए हों तो, उस जगह पर #हींग का चूर्ण लगाने से कीड़े समाप्त हो जाते हैं।
  9. खाने से पहले घी में भुनी हुई #हींग एवं अदरक का एक टुकडा मक्खन के साथ में लेने से भूख ज्यादा लगती है।
  10. पीलिया होने पर #हींग को गूलर के सूखे फलों के साथ खाना चाहिए। पीलिया होने पर हींग को पानी में घिसकर आंखों पर लगाने से फायदा होता है।
  11. कान में दर्द होने पर तिल के तेल में #हींग को पकाकर उस तेल की बूंदों को कान में डालने से कान का दर्द समाप्त हो जाता है।
  12. उल्टी आने पर #हींग को पानी में पीसकर पेट पर लगाने से फायदा होता है।
  13. सिरदर्द होने पर #हींग को गर्म करके उसका लेप लगाने से फायदा होता है।
  14. 1 चुटकी भुनी हुई #हींग को सेंधा नमक के साथ प्रात: काल कुछ दिनों तक खाने से लकवा होने की संभावना समाप्‍त हो जाती है।
  15. खाने में #हींग के रोज सेवन से महिलाओं के गर्भाशय का संकुचन होता है और मासिक धर्म से जुड़ी परेशानियां दूर हो जाती हैं।
  16. #हींग को पानी में मिलाकर घुटनों पर लगाने से घुटनों का दर्द दूर हो जाता है।
  17. हिचकी को तुरंत बंद करने के लिए पुराने गुड़ में थोड़ी सी #हींग मिलाकर सेवन करें।
  18. #हींग को पानी में घोलकर नाभि के आसपास लगाने से या घी में भुनी हींग शहद में मिलाकर खाने से पेट दर्द में लाभ होता है।
  19. अगर कोई जहर खा ले तो उसे तुरंत #हींग का पानी पिलाएं, ऐसा करने से उल्टी के द्वारा जहर बाहर निकल जाता है और जहर का प्रभाव खत्म हो जाता है।
  20. #हींग का एक छोटा सा टुकड़ा पानी से निगल लेने पर पेट दर्द से बहुत जल्दी राहत मिलती है।
  21. माइग्रेन की समस्या में आराम लेने के लिए #हींग को पानी में घोलकर उसकी कुछ बूंदें रोजाना नाक में डालें।
  22. 2 ग्राम #हींग को आधा किलो पानी में उबालें, जब चौथाई पानी बच जाए तो इस पानी को हल्का गर्म कर पिएं पेट दर्द में आराम मिलेगा।
  23. #हींग का पानी थोड़ी-थोड़ी मात्रा में बच्चों को देते रहने से न्यूमोनिया में बहुत आराम मिलता है।
  24. सौंठ, कालीमिर्च, छोटी पीपल, अजवाइन, सफेद जीरा, काला जीरा, शुद्ध घी में भुनी #हींग और सेंधा नमक सब समान मात्रा में लेकर बारीक पीस लें, इस चूर्ण को रोजाना खाने के बाद 2 ग्राम से 4 ग्राम की मात्रा में पानी के साथ लें। इसके नियमित सेवन से गैस की समस्या खत्म हो जाएगी।
  25. #हींग का टुकड़ा या हींग को दांतों में दर्द वाले स्थान पर लगाने से राहत मिलेगी।
  26. #हींग को पानी में उबालकर कुल्ला करने से भी दांतों के दर्द से राहत मिलती है।
  27. गन्ने के रस में सिरके के साथ थोड़ा #हींग पाउडर मिलाएं, सुबह-शाम दाद पर लगाएं, कुछ ही दिनों में दाद खत्म हो जाएगा।
  28. सर्दी के कारण सिर दर्द हो रहा हो तो पानी में थोड़ी सी #हींग घोल लें, इस पानी को सिर पर लगाएं, सिर दर्द में तुरंत आराम मिलेगा।
  29. अगर आपका गला बैठ गया है तो #हींग को उबले हुए पानी में घोल लें और इस पानी से गरारे करें। ऐसा दिन में 2-3 बार करें, आपका गला ठीक हो जाएगा।

#हींग की प्रवृत्ति गरम होती है इसलिए इसका अधिक सेवन नहीं करना चाहिए। थोड़ी मात्रा में तड़के के रूप में या सलाद के मसाले आदि में आप इसका सेवन नियमित रूप से कर सकते हैं।