गुड़हल के फूल का चूर्ण (HABICUS POWDER)
गुड़हल के फूल का चूर्ण (HABICUS POWDER)
गुड़हल के फूल का चूर्ण (HABICUS POWDER)
गुड़हल के फूल का चूर्ण (HABICUS POWDER)
गुड़हल के फूल का चूर्ण (HABICUS POWDER)

गुड़हल के फूल का चूर्ण (HABICUS POWDER)

Regular price Rs. 300.00 Sale price Rs. 125.00

#गुड़हल के फायदे और नुकसान –

#गुड़हल या #जवाकुसुम वृक्षों के मालवेसी परिवार से संबंधित एक फूलों वाला पौधा है। इसका वनस्पतिक नाम है- हीबीस्कूस् रोज़ा साइनेन्सिस। (Hibiscus plant) #गुड़हल का पौधा वैसे तो एक आम सा पौधा होता है। लेकिन यदि इसके गुणों को देखा जाये तो वह बहुत ही खास होते है और स्‍वास्‍थ्‍य के खजाने से भरे पड़े है। #गुड़हल के पेड़ पर लगने वाला फूल बहुत ही गुणकारी और लाभदायक होता है। ये फूल आमतोर पर सभी जगह देखे जा सकते है ये बहुत ही सुन्दर होते है लोग इन फूलो को केवल पूजा के उपयोग में लेते है लेकिन वे नहीं जानते है कि यह फूल केवल पूजा में ही काम नही आता है बल्कि इसके बहुत सारे उपयोग और #गुड़हल के फायदे (Gudhal ke fayde) है | लेकिन हम ये भी जानते है की कोई भी चीज लाभदायक और हानिकारक दोनों ही होती है इसी प्रकार इस फूल के बहुत सारे लाभ है तो कुछ हानि भी है जिसके बारे में हम आपको बतायेगे।

#गुड़हल के फायदे: -

भारत में #गुड़हल के फूल का बहुत महत्व है। यह न केवल धार्मिक दृष्टि से बल्कि सेहत की दृष्टि से भी लोगों के जीवन का हिस्सा है। यह गर्म समशीतोष्ण, उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय जलवायु में उगता है। #गुड़हल यह कई तरह की बीमारियों में फायदेमंद है। आइए गुड़हल के फायदों के बारे में जानते हैं।

  1. कोलेस्ट्रॉल को घटाता है

#गुड़हल की पत्ती से बनी चाय एलडीएल कोलेस्टेरॉल को कम करने में काफी प्रभावी है इसमें पाए जाने वाले तत्व अर्टरी में प्लैक को जमने से रोकते हैं जिससे कोलेस्टेरॉल का स्तर कम होता है। #गुड़हल के फूलों में एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल कम करने के साथ ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करता है। इसके लिए इसके फूलों को गरम पानी में उबालकर पीना फायदेमंद होता है। और आप इसकी पत्तियों से बनी चाय का सेवन भी कर सकते है ।

  1. #गुड़हल के फायदे  मधुमेह या डायबिटीज में

मधुमेह या डायबिटीज के लिए नियमित आप इसकी 20 से 25 पत्तियों का सेवन शुरू कर दे ये आपकी डाइबिटीज का शर्तिया इलाज है इसका पौधा नर्सरी से आसानी से मिल जाता है और इसे आप घर में लगा सकते है।

  1. हिबिस्कुस पाउडर किडनी स्टोन के लिए  –

अगर आपको किडनी की समस्या है तो आप #गुड़हलकी पत्ती से बनी चाय का सेवन करे इस के उपयोग से किडनी स्टोन की समस्या में लाभ मिलेगा। इसी चाय का लाभ डिप्रेसन के लिए भी होता है।

  1. गाल ब्लैडर स्टोन निकालने के लिए #गुड़हल के पाउडर के फायदे – 

इस्तेमाल की विधि
#गुड़हल का पाउडर एक चम्मच रात को सोते समय खाना खाने के कम से कम एक डेढ़ घंटा बाद गर्म पानी के साथ फांक लीजिये. ये थोडा कड़वा होता है. इसलिए मन भी करडा कर के रखें. मगर ये इतना भी कड़वा नहीं होता के आप इसको खा ना सकें. इसको खाना बिलकुल आसान है. इसके बाद कुछ भी खाना पीना नहीं है|

इस प्रयोग में बरती जाने वाली महत्वपूर्ण सावधानी

पालक, टमाटर, चुकंदर, भिंडी का सेवन न करें। स्टोन को तोड़ने के लिए पाठकों से अनुरोध हैं के वो पहले 5 दिन हर रोज़ 5 गिलास सेब के जूस पियें. हर तीन घंटे के बाद एक गिलास सेब का जूस पीते रहें. और बाकी अपना खाना कम कर दीजिये. इसलिए जिन लोगों के स्टोन का साइज़ बड़ा हो वो केवल डॉक्टर की देख रेख में और अपने विवेक से इस प्रयोग को करें.

  1. #गुड़हल के फायदे  मेमोरी पावर को बढ़ाने -

#गुड़हल का शर्बत  दिल और दिमाग को शक्ति प्रदान करता है तथा ये आपकी मेमोरी पावर को बढ़ाता है जो लोग बढ़ते उम्र के साथ मेमोरी लॉस होने की समस्या से परेशान है और जब कम उम्र में याददाश्त कमजोर होने लगे तो #गुड़हल इस समस्या को दूर करने में भी बहुत ही कारगर है #गुड़हल की 10 पत्तियां और 10 फूल लें फिर इन्हें सुखाकर और पीसकर उसका पाउडर बना लें और किसी एयर टाइट डिब्बे में बंद करके रखें दिन में दो बार दूध के साथ इस पाउडर को लेना से आपकी मेमोरी पावर में काफी इजाफा होता है।

  1. #गुड़हल के फायदे मुंह में छाले ठीक करने में -

मुंह में छाले हो गए है तो आप #गुड़हल के पत्ते चबाये आराम हो जाएगा। लार में वृद्धि और पाचन शक्ति को बनाने और मुँह के छालों के लिए #गुड़हल की 3-4 पत्तियो को चबाना चाहिए। आपको लाभ होगा।

7 .सर्दीजुकाम में लाभकारी -

#गुड़हल में अधिक मात्रा में विटामिन सी होता है जब चाय या अन्य रूपों में इसका सेवन किया जाता है तो यह सर्दी और खांसी के लिए काफी फायदेमंद होता है इससे आपको सर्दी से जल्द राहत मिलेगी।

8 .बालों के लिए #गुड़हल के फायदे – 

मैथीदाना, #गुड़हल और बेर की पत्तियां पीसकर पेस्ट बना लें आप इसे 15 मिनट तक बालों में लगाएं इससे आपके बालों की जड़ें मजबूत और स्वस्थ होंगे।
बालों के झड़ने की समस्या से लगभग हर कोई परेशान है #गुड़हल के फूल इस समस्या को दूर करने में बहुत ही कारगर हैं ये न सिर्फ बालों का झड़ना रोकते हैं बल्कि इसके इस्तेमाल से एक अलग ही शाइनिंग बालों में नजर आने लगती है -#गुड़हल की 6-8 पत्तियों को लेकर अच्छे से पीस लें इसे सिर और स्केल्प में अच्छे से लगाएं 3 घंटे रखने के बाद गुनगुने पानी से धो लें ये स्केल्प को पोषण देने के साथ ही बालों की ग्रोथ में भी बहुत ही फायदेमंद होता है।

बालों को सुंदर और काले करने के लिए आप #गुड़हल के फूल के साथ अंडे का भी उपयोग कर सकते है। इसके लिए पहले #गुड़हल के फूल या पत्तियों को पीस लें फिर इसमें एक अंडा मिलाएं। इस मिश्रण को बालों की जड़ों तक लगाएं। इस मिश्रण का नियमित उपयोग करने से आपके बालों की खोई हुई चमक वापस आ जाएगी।

  1. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए

बुखार व प्रदर में भी लाभकारी होता है यह शर्बत बनाने के लिए #गुड़हल के सौ फूल लेकर कांच के पात्र में डालकर इसमें 20 नीबू का रस डालें व ढक दें। रात भर बंद रखने के बाद सुबह इसे हाथ से मसलकर कपड़े से इस रस को छान लें। इसमें 80 ग्राम मिश्री+20 ग्राम गुले गाजबान का अर्क+20 ग्राम अनार का रस+ 20 ग्राम संतरे का रस मिलाकर मंद आंच पर पका लें।

  1. #गुड़हल के फूल के फायदे खुजली और जलन में -

#गुड़हलका फूल सूजन के साथ ही खुजली और जलन जैसी समस्याओं से भी आपको राहत दिलाता है। #गुड़हल के फूल की पत्तियों को मिक्सी में अच्छे से पीस लें तथा सूजन और जलन वाले हिस्से पर लगाएं कुछ ही मिनटों में समस्या दूर हो जाएगी।

  1. चेहरे को चमकाए #गुड़हल  – 

एंटी-ऑक्सीडेंट, आयरन और विटामिन सी से भरपूर #गुड़हल की पत्तियां चेहरे की झुर्रियां और दाग-धब्बों को खत्म करने में मदद करती है। इसके लिए आप इसकी पत्तियों को पानी में उबाल लें और पीसकर शहद के साथ मिलाएं तथा चेहरे पर लगाएं। आपका चेहरा न केवल चमकेगा बल्कि रुखापन भी दूर होगा। आपको बता दें कि #गुड़हल की पत्तियां एंटी-एजिंग का भी काम करती है। यह शरीर से फ्री रेडिकल्स को हटाता और त्वचा को खूबसूरत बनाता है।

यदि आप के चेहरे पर बहुत मुंहासे हो गए हैं तो लाल #गुड़हल की पत्‍तियों को पानी में उबाल कर पीस लें और उसमें शहद मिला कर मुंहासे पर लगाये तो आपको मुंहासे में आराम मिलेगा |

  1. एनीमिया करें दूर

महिलाओं को अक्सर आयरन की कमी से एनीमिया की समस्या हो जाती है लेकिन बहुत ही कम लोग इस बात को जानते होंगे कि #गुड़हल के फूल से भी एनीमिया का इलाज संभव है आप 40-50 #गुड़हल की कलियों को सुखा कर फिर अच्छे से पीसकर उन्हें किसी एयर टाइट डिब्बे में बंद कर दें और रोजाना सुबह-शाम एक कप दूध के साथ यह पाउडर लें सिर्फ एक महीने में ही एनीमिया की समस्या दूर हो जाएगी और इससे स्टेमिना भी बढ़ता है।

  1. #गुड़हल के फायदे मासिक धर्म के लिए

शरीर की कई बीमारियों से लड़ने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत होना बहुत ही जरूरी है। #गुड़हल की पत्तियां, शरीर को उर्जा प्रदान करती हैं और इम्यूनिटी लेवल को बढ़ाती हैं। इसकी पत्तियां मेनोपॉज और मासिक धर्म में बहुत ही फायदा करती है। जिन महिलाओं को मासिक धर्म सही समय पर नहीं आता उन्हें #गुड़हल की पत्तियों की चाय पीनी चाहिए। मेनोपॉज के दौरान महिलाओं को इसकी पत्तियों को सुखाकर गर्म पानी के साथ पीना चाहिए।

#गुड़हल के नुकसान

 

  1. गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं द्वारा #गुड़हल की चाय का उपभोग नहीं किया जाना चाहिए। क्योकि ऐसा करने से उनका गर्भपात हो सकता है |
  2. गर्भनिरोधक की गोलियां लेनी वाली महिलाओं को #गुड़हल की चाय नहीं पीनी चाहिए।
  3. यदि आप किसी भी हार्मोनल उपचार से गुजर रहे हैं तो #गुड़हल (Hibiscus) का सेवन नहीं करें।
  4. यदि आपकम रक्तचाप से पीड़ितहैं तो #गुड़हल न लें। इससे रक्तचाप का स्तर कम हो सकता है।
  5. #गुड़हल(Hibiscus) से ब्लड प्रेशर को कम किया जाता है इसलिए कम ब्लड प्रेशर वाले लोग इसका सेवन न करे|

इस प्रकार #गुड़हलके फायदे और नुकसान को जानने के बाद हमने देखा की साधारण सा लगने वाला #गुड़हल का फूल और उसके पत्ते मानव जीवन के लिए कितने उपयोगी और लाभकारी है |